व्यापार का सही चुनाव करने से पहले क्या करें? Vyapar ka Sahi chunav Kare

Vyapar ka Sahi chunav: व्यापार का सही चुनाव कैसे करें? व्यापार स्टार्ट करने से पहले हमें कौन-सी बातें ध्यान देना जरूरी है? ताकि हमारा बिज़नेस सफलता की ओर अग्रसर हो, Business करने से पहले आपके लिए कुछ महत्त्वपूर्ण टॉपिक पर गौर देना बहुत ही जरूरी है, जो आपको एक सफल बिजनेसमैन बनाने में मदद करेगा। तो चलिए जानते हैं। व्यापार का सही चुनाव करने से पहले क्या करें? पोस्ट को पूरा पढ़ें यह जानकारी बहुत ही उपयोगी है तो चलिए स्टार्ट करते हैं।

Vyapar ka Sahi chunav
Vyapar ka Sahi chunav

व्यापार का सही चुनाव (Vyapar ka Sahi chunav)

जैसा कि आप सभी यह जान चुके हैं कि किसी भी कार्य या व्यापार को करने के लिए उसे गंभीरता से लेना आवश्यक है। किसी भी कार्य को करने से पूर्व आपको कुछ कानूनी दिशा-निर्देश के बारे में ज्ञान होना आवश्यक है। यह जरूरी है कि आपका कार्य कानून की नजर में सही होना चाहिए।

आपको अपनी कम्पनी, फर्म, संस्था या उत्पाद का नाम गंभीरता से सोचना चाहिए। दूर की सोचकर यह निर्धारित करें कि आपको अपने Vyapar के साथ रहना है। व्यापार की शुरूआत करने से पहले निर्धारित कीजिए कि आप अपने व्यापार ( (Vyapar) को कहाँ तक ले जाना चाहते हैं और कितनी ऊँचाईयों को छूना चाहते हैं।

आप ऐसा नाम चुनिए जिसमें भविष्य में व्यापार (Business) को बढ़ाया जा सके और साथ ही असीमित उत्पादों को जोड़ा जा सके। याद रखिए एक ही उत्पाद पर निर्भर रह कर आपके लिए व्यापार (Vyapar) बढ़ाना मुश्किल हो जाएगा।

सही व्यापार को सही दिशा (Making Your Business Legal)

सही व्यापार को सही दिशा (Sahi Vyapar ki Disha) से शुरू करो क्योंकि मकान की नींव मजबूत होगी तो छत अपने आप ही मजबूत होगी। लम्बे नजरिये व सही नियम से किया गया व्यापार हमेशा भविष्य को देखकर चलता है। क्योंकि अच्छी नाव ही समुन्द्र पार करवा सकती है। बेकार नाव तो बीच में ही डूब जाती है। अतः व्यापार को वैद्य तरीके से ही किया जाना चाहिए। इसके लिए निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए:

व्यापार करने से पहले जरूरी नियम (Vyapar karne Se Pahle)

1-अपने व्यापार व नाम का सही चुनाव करें:-आप क्या व्यवसाय करना चाहते हैं। आप किस तरह के व्यापार से सन्तुष्ट हैं तथा आप अपने व्यापार के सही नियमों की जानकारी लें।

2-अपनी फर्म, कम्पनी नाम को पंजीकृत करवाएँ:-आप अपनी फर्म या कम्पनी का वकील की सहायता से रजिस्ट्रेशन करवाएँ। कम्पनी अगले पृष्ठ में से अपने व्यापार के। के अनुरूप चुन सकते हैं:

3-एकल स्वामित्व (Sole Proprieter for Ship) :-छोटे व्यापार के लिए शुरूआत में एक स्वामित्व कम्पनी / फर्म चला सकते हैं। इसमें शुरूआत करने वाला अकेला व्यक्ति होता है। भारत में यह सबसे ज्यादा लोकप्रिय है।

4-हिस्सेदार (Partnership) :-यह दो या दो से अधिक व्यक्ति मिलकर इस तरह की कम्पनी को चला सकते हैं। जब व्यापार में हिस्सेदार एक से ज्यादा हो तो इस तरह की कम्पनी को चलाया जा सकता है। इसमें सभी, हिस्सेदारों का Ratio के हिसाब से हिस्सा डाल लिया जाता है। जिस मात्रा में हिस्सा डलेगा, मुनाफा या नुकसान भी उसी अनुपात में बंट जाएगा। यह कम्पनी रजिस्ट्रार के पास पंजीकरण करना चाहिए। एक अनुभवी वकील इसे आसान से करवा देगा।

बिजनेस शुरू करने से पहले जरूरी (business Shuru karne se pahle)

5-प्राईवेट लिमिटेड कम्पनी:-इस तरह की कम्पनी की शुरूआत करने की प्रक्रिया लम्बी व थोड़ी मुश्किल है। इस कम्पनी की आवश्यकता आपको तब पड़ती है जब आपका कार्य बहुत बड़ा हो गया है या बड़ा करने वाले हैं। इस कम्पनी की प्रक्रिया के लिए अनुभवी चार्टेड अकाऊटैन्ट या वकील की सहायता लेनी आवश्यक है।

इस रिकॉर्ड का रख-रखाव व अन्य कानूनी कार्य काफी खर्चीले हैं। दीवालिया होने की स्थिति में कानूनी बकाया राशि के लिए ऋण आदि लौटाने के बाद यदि कम्पनी के स्वामी के पास देनदारों को धन देने के लिए नहीं है तो उनको बाध्य नहीं किया जा सकता। इस मामले में कानून द्वारा हस्तक्षेप करने का पूरा अधिकार होता है।

6-Licence Your Business:-अपने व्यापार के अनुरूप यदि आपको व्यवसाय इस तरह का जिसके लिए आपको लाईसेन्स लेना है तो उसका लाईसैन्स ले लेना चाहिए जैसे दवाईयाँ, तम्बाकू, एल्कोहल, तेजाब आदि।

व्यवसाय शुरू करने से पहले (vyavsay ki shuruaat)

7-बही खाता व्यवस्थित रखना:-प्रत्येक व्यापार में बही खाता होता है। इसमें प्रत्येक तीन महीने में हिसाब लगाया जाता है कि कितना व्यापार हुआ, क्या कमाया आदि-आदि। इसके लिए एक अनुभवी लेखापाल या मुनीम रखना चाहिए। ताकि सारा रिकॉर्ड साफ रखा जा सके।

8-Report your Income Tax.:-समय-समय पर आपको अपनी फर्म के अनुसार Income Tax भरना चाहिए।

9-Pay your Self Employment Tax:-अपनी फर्म या कम्पनी के साथ स्वयं का भी Income Tax या अन्य जो जरूरी हो वह Tax भरना चाहिए।

10-Pay Other Tax:-आपके व्यापार के अनुरूप आपको अन्य टैक्स, सेल्ज, सर्विस टैक्स भरने होते हैं। जो आपके व्यापार के अनुरूप होते हैं। जिसके बारे में ज्यादा सुविधाजनक तरीके से आपका अकाऊटैन्ट आपको बता। पायेगा।

निष्कर्ष

दोस्तों अपने ऊपर दिए गए कंटेंट में व्यवसाय शुरू करने से पहले (Vyapar ka Sahi Chunav karne se pahle) क्या बातें जरूरी होती हैं? जो व्यवसाय को सफल बनाने में मदद करेंगे । आशा है आपको ऊपर दिया गया कंटेंट जरूर अच्छा लगा होगा और आप एक सफल बिजनेसमैन बन सकते हैं और बिजनेस से रिलेटेड जानकारी के लिए नीचे दिए गए लिंक को क्लिक कर पढ़ें,

Read:- स्वयं को बिजनेस के लिए कैसे तैयार करें? Prepare Yourself for Business

1 thought on “व्यापार का सही चुनाव करने से पहले क्या करें? Vyapar ka Sahi chunav Kare”

Leave a Comment

two × 3 =